भारत का स्वतंत्रता संग्राम Freedom struggle of india from 1857 to 1947

भारतीय स्वातंत्र्य आन्दोलन राष्ट्रीय एवं क्षेत्रीय आह्वानों, उत्तेजनाओं एवं प्रयत्नों से प्रेरित, भारतीय राजनैतिक संगठनों द्वारा संचालित अहिंसावादी और सैन्यवादी आन्दोलन था, जिनका एक समान उद्देश्य, अंग्रेजी शासन को भारतीय उपमहाद्वीप से जड़ से उखाड़ फेंकना था। इस आन्दोलन की शुरुआत १८५७ मे हुए सिपाही विद्रोह को माना जाता है। स्वाधीनता के लिए हजारों लोगों ने अपने प्राणों की बलि दी। भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस ने १९३० कांग्रेस अधिवेशन मे अंग्रेजो से पूर्ण स्वराज की मांग की थी।

घटनायें तथा आन्दोलन : 

१८५७ का प्रथम भारतीय स्वतन्त्रता सन्ग्राम – बंगाल का विभाजन – क्रान्तिकारी आन्दोलन – चंपारण और खेड़ा सत्याग्रह – जलियां वाला बाग नरसंहार – असहयोग आन्दोलन – झंडा सत्याग्रह – बारडोली सत्याग्रह – साइमन कमीशन – नेहरू

रिपोर्ट – पूर्ण स्वराज – नमक सत्याग्रह – १९३५ का कानून – क्रिप्स मिशन – भारत छोड़ो आन्दोलन – आज़ाद हिन्द फ़ौज – बंबई का विद्रोह

संस्थायें :

भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस – गदर पार्टी – होम रुल लीग – खुदाई खिदमतगार – स्वराज पार्टी – अनुशीलन समिती

भारतीय नेता :

मंगल पाण्डेय – रानी लक्ष्मीबाई – बाल गंगाधर तिलक – गोपाल कृष्ण गोखले – लाला लाजपत राय – बिपिन चन्द्र पाल – महात्मा गांधी – सरदार वल्लभ भाई पटेल – नेताजी सुभाषचंद्र बोस – बादशाह खान – जवाहरलाल नेहरू – मौलाना अबुल कलाम आज़ाद – चन्द्रशेखर आज़ाद – चक्रवर्ती राजगोपालाचारी – भगत सिंह – सरोजिनी नायडू – पुरुषोत्तम दास टंडन – तंगतुरी प्रकाशम

ब्रितानी राज :

राबर्ट क्लाईव – जेम्स औटरम – डलहौजी – इरविन – विक्टर होप – माउण्टबेटन

स्वतन्त्रता: १९४६ का मंत्रिमण्डल – १९४७ का भारतीय स्वतन्त्रता कानून – भारत का विभाजन – भारत का राजनैतिक एकीकरण – भारतीय संविधान

 

Comments

Mock4Exam © 2017 Frontier Theme
error: Content is protected !!